Solar Energy Wind Energy Biomass Energy Small Hydero Energy

सौर

भारत में व्यापक रुप से सौर ऊर्जा उपलब्ध है। देश के अधिकांश क्षेत्रों में प्रतिदिन 4-7 किलोवाट घंटा प्रति वर्ग मीटर सौर ऊर्जा प्राप्त होती है। देश में प्रतिवर्ष 5000 ट्रिलयन किलोवाट घंटा सौर ऊर्जा उपलब्ध है।.

अवलोकन

म.प्र. शासन द्वारा स्थानीय, राष्ट्रीय एवं वैष्विक जलवायु परिर्वतन के बढ़ते प्रभावों को ध्यान में रखते हुये प्रदेश में व्यापक रुप से उपलब्ध सौर ऊर्जा के दोहन का निर्णय लिया गया है। म.प्र. में लगभग 300 सौर दिवस और प्रतिदिन 5.5 किलोवाट अवर प्रति वर्ग मीटर सौर ऊर्जा की उपलब्धता के दृष्टिगत सौर ऊर्जा परियोजना स्थापना की व्यापक संभावनाएँ है।.

इस संदर्भ में देश के बढ़ते ऊर्जा संकट के समाधान के रुप में स्वच्छ ऊर्जा स्त्रोतों के उपयोग एवं प्रसार में मध्य प्रदेश अग्रणी भूमिका निभा सकता है। इस दिशा में प्रदेश में सौर ऊर्जा परियोजनाओं के समुचित विकास की पहल प्रारंभ हो चुकी है। नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा प्रदेश में सौर ऊर्जा परियोजनाओं के विकास हेतु निम्न कार्यवाही की जा रही है।:

  • प्रदेश में सौर ऊर्जा आधारित परियोजनाओं के क्रियान्वययन हेतु प्रथम सौर ऊर्जा नीति लागू की गई है ।
  • प्रदेश में सौर उपकरण निमार्ण इकाइयों व उसमें लगने वाले सहायक कलपुरजों से उपकरण इकाइयों को प्रोत्साहन।
  • लघु एवं मध्यम श्रेणी की औद्योगिक इकाइयों को सौर संबंधित कलपुर्जों के निमार्ण हेतु प्रोत्साहन ।
  • सौलर पार्क स्थापना हेतु भूमि आवंटन प्रक्रिया में वरीयता।
  • सौर तकनीकी पार्को की स्थापना हेतु प्रोत्साहन।
  • त्वरित निष्पादन हेतु एकल खिड़की व्यसवस्थाप लागू की गई है।
Top  Back to Previous